मानवता हुई फिर शर्मशार  बैलगाड़ी मे ले जाने पड़ रहे शव

 


पन्ना के शाहनगर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मे मृत्यु के बाद फिर एक लाश को ना मिल सका शव वाहन , बैलगाड़ी पर शव को ले जाने परिजन हुए मजबूर, बड़ा सवाल जीते जी है शासन की सारी योजनाएं लेकिन मरने के बाद  घर तक सम्मान से शव पहुचाने नही है वाहन ।



Popular posts from this blog

पैदल यात्रा निकाल रहे 2 कांग्रेस विधायक को पुलिस ऐसे ले गयी

कोतमा में राजश्री सहित कई  उत्पादों की कालाबाज़ारी जोरों पर

होशंगाबाद जिले मे महुआ फूल बना ग्रामीणो के लिए पीला सोना, खुशहाल हुए आदिवासी परिवार