MP पुलिस सेवा के 8 अफसर बनेंगे IPS, इन नामों में से होगा चयन..


 
भोपाल..राज्य पुलिस सेवा (State Police Services) संवर्ग से भारतीय पुलिस सेवा (Indian Police Services) संवर्ग में पदोन्नति के लिये विभागीय पदोन्नति समिति की बैठक तय हो गई है. ये बैठक अब 30 दिसंबर को दिल्ली में होगी. संघ लोक सेवा आयोग ने डीपीसी के लिये समय तय कर दिया है. रापुसे संवर्ग के 8 अफसरों को आईपीएस बनाने के लिये कुल 24 नामों पर विचार होगा. इस डीपीसी में हिस्सा लेने के लिये मप्र से मुख्य सचिव एसआर मोहंती, गृह विभाग के प्रमुख सचिव एसएन मिश्रा और डीजीपी व्हीके सिंह दिल्ली जाएंगे. इसके अलावा डीपीसी में केंद्र सरकार के एडिशनल सेक्रेट्री स्तर के एक अधिकारी और यूपीएससी के एक सदस्य शामिल होंगे।


1995 बैच के अफसरों पर मंथन


जिन अफसरों के नाम शामिल किये गये हैं, उनमें अनिल कुमार मिश्रा, सुशील रंजन सिंह, देवेन्द्र केआर सिरोलिया, संजय कुमार सिंह, आलोक कुमार, रघुवंश कुमार सिंह, विकास पाठक, श्रद्धा तिवारी, वैष्णव शर्मा, सिद्धार्थ चौधरी, यशपाल सिंह राजपूत, धर्मवीर सिंह, अरविंद तिवारी, प्रियंका मिश्रा, वीरेन्द्र मिश्रा, प्रमोद कुमार सिन्हा, विजय कुमार भगवानी, राजीव मिश्रा, प्रकाश चंद्र परिहार, निश्चल झरिया, रचना ठाकुर, संतोष कोरी, जगदीश डाबर और मनोहर सिंह मंडलोई शामिल हैं, इन सभी नामों पर मंथन होगा।


इसलिए 8 अफसर को होगा IPS अवार्ड


2008 बैच के 8 पुलिस अधिकारी रिटायर्ड हो रहे हैं, इन्हीं के पद खाली होंगे. मध्य प्रदेश कैडर का 33 फीसदी राज्य पुलिस सेवा के अधिकारियों को मिलता है. हर साल जितने पुलिस अधिकारी रिटायर्ड होते हैं उतने ही पद खाली होते हैं और उन्हीं पदों को भरने के लिए बैठक होती है. इसी बैठक में जिस बैच के अधिकारियों को आईपीएस अवार्ड नहीं होता है, उनके नामों पर विचार किया जाता है. हर स्तर पर मंथन करने के बाद राज्य पुलिस सेवा के अधिकारियों को आईपीएस अवार्ड होता है।