मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने अपने निवास पर गरीब और अनाथ बच्चों से मुलाकात की।

मुख्यमंत्री ने "नन्ही खुशियाँ" कार्यक्रम के अंतर्गत एक दिन की पूरी खुशी टूर कार्यक्रम को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि बच्चे देश का भविष्य हैं। नव निर्माण में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका आने वाले दिनों में रहेगी। हमारा प्रयास होना चाहिए कि इन बच्चों का भविष्य न केवल बेहतर हो बल्कि वे सक्षम और सफल बने, ऐसा वातावरण हम उन्हें उपलब्ध करवाएं।


मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने विभिन्न गरीब बस्तियों में रहने वाले अनाथ और गरीब बच्चों से उनकी पढ़ाई, रूचि के साथ ही खेल-कूद के बारे में जानकारी ली। मुख्यमंत्री  ने बच्चों को शुभकामनाएँ दी। उन्होंने बच्चों से कहा कि वे जिस देश में रह रहे हैं वह पूरी दुनिया में एकमात्र एक ऐसा देश है जहाँ विभिन्न संस्कृति, भाषा, जाति, धर्म के लोग रहते हैं। सबसे महत्वपूर्ण यह है कि इतनी विभिन्नताओं के बीच भी हमारे देश की एकता, अखण्डता न केवल मजबूत है बल्कि समय आने पर सभी लोग एकजुट होकर हर संकट का सामना करते हैं। मुख्यमंत्री ने बच्चों को बताया कि हाल ही में मंदसौर सहित प्रदेश के विभिन्न जिलों में हुई अतिवृष्टि के कारण पीड़ित बाढ़ प्रभावितों लोगों के लिए हर धर्म और वर्ग के लोगों ने आगे बढ़कर मदद की। मुख्यमंत्री ने कहा कि यही हमारी विशेषता है, यही हमारी शक्ति है जिसका पूरी दुनिया लोहा मानती है। 



मुख्यमंत्री ने बच्चों को शुभकामनाएँ दी और कहा कि वे मेहनत से पढ़ाई करें। अपनी सभ्यता, संस्कृति, संस्कार से जुड़े और भारत के स्वतंत्रता संग्राम के इतिहास को जानें। 


मुख्यमंत्री ने इस मौके पर उनसे मिलने आए बच्चों को शॉल और उपहार भेंट किए। बच्चों ने खुश होकर मुख्यमंत्री को थैंक्यू कहा। एक दिन की खुशी कार्यक्रम के अंतर्गत बच्चों को मुख्यमंत्री निवास, वन विहार, राजभवन सहित भोपाल स्थित रमणीय और दर्शनीय स्थलों का भ्रमण कराया जाएगा और वे एक बड़ी होटल में दोपहर और रात्रि का भोजन करेंगे। इस कार्यक्रम का आयोजन स्थानीय समाचार पत्र नवदुनिया एवं प्रतिभा फाउंडेशन द्वारा किया गया थ