सभी अधिकारी जानते है क्या स्थिति है मध्यान्ह भोजन की इसके बाद भी नही हो रही कोई कार्रवाई


सब्जी में सड़े आलू दो जली रोटिया दी जा रही है माध्यमिक शाला देवरी में बच्चे बोले हमे नही खाना ऐसा मध्यान्ह भोजन योजना बनी मजाक शिकायत के बाद भी समूह संचालक पर कोई कार्रवाई
लवकुशनगर/ अंचल में मध्यान्ह भोजन योजना मजाक बनकर रह गया है समूह संचालको की मनमानी छात्रो पर भारी पड़ रही है लवकुशनगर जनपद क्षेत्र के माध्यमिक शाला देवरी में कार्यरत शिवा स्वसहायता समूह द्वारा बच्चो के हक को छीनकर मध्यान्ह भोजन बनाने के नाम पर महज खानापूर्ती की जा रही है इस शाला में मीनू अनुसार भोजन की बात तो दूर की बात है बच्चो को सब्जी दाल भी अच्छी नसीब नही हो पा रही है समूह संचालक के सदस्य  बीते रोज सड़े और बदबूदार आलू लेकर शाला परिसर पहुचे और रसोइया द्वारा जैसे ही सब्जी बनाने की प्रक्रिया शुरू की वैसे ही इन सड़े और बदबूदार आलूओं पर नजर शाला में पदस्थ शिक्षक की पड़ गई  विरोध के बाद यह आलू फेंके गए शाला में समूह संचालक की लगातार मनमानी के बाद शाला प्रभारी ने बीआरसी को पत्र लिखकर कार्रवाई करने का लेख किया गया लेकिन बीआरसी कार्यालय से सिर्फ नोटिस तक ही कार्रवाई हो सकी 



बच्चे बोले काबुली चना कैसा होता वह नही जानते
 
मध्यान्ह भोजन के मीनू की बात करे तो सोमवार को रोटी के साथ तुअर की दाल या काबुली चने व टमाटर आलू की सब्जी नियत है लेकिन शाला में अध्यनरत बच्चो के अनुसार उन्हें कभी भी काबुली चना नही मिला बच्चे बोले वह नही जानते कि काबुली चने का स्वाद कैसा होता है 


बीआरसी कार्यालय से नोटिस तक की कार्रवाई 
लवकुशनगर बीआरसी कार्यालय में इन दिनों जमकर भर्राशाही जारी है समूह संचालको पर कार्रवाई की फाइलें आगे नही बढ़ रही है माध्यमिक शाला देवरी में कार्यरत समूह संचालको को बीते 17 सितम्बर को नोटिस जारी कर अपनी जिम्मेदारी से पल्ला झाड़ लिया गया है अभी तक समूह संचालक पर कोई कार्रवाई प्रस्तावित नही हुई है 


इनका कहना है 
समूह संचालक द्वारा मध्यान्ह भोजन में लापरवाही बरती जा रही है शाला प्रबंधन द्वारा पूर्व में बीआरसी कार्यालय में शिकायत भेजी गई है बीआरसी कार्यालय से नोटिस भी जारी हुआ है समूह संचालक द्वारा मध्यान्ह भोजन बनाने में कुछ सुधार किया गया है 
राम सिंह अहिरवार शाला प्रभारी माध्यमिक शाला देवरी