यूपी पुलिस कांस्टेबल भर्ती 2019: सरकारी नौकरी पाने के लिए ये हथकंडे अपना रही हैं लड़कियां


                                                                                                                                        


 उत्तर प्रदेश पुलिस भर्ती में कांस्टेबल बनने के लिए लड़कियां कोई कोर-कसर नहीं छोड़ रहीं। लंबाई पूरी करने के लिए वह हर हथकंडा अपना रही हैं। कोई बालों में मेहंदी या जैल लगाकर पहुंच रही है तो कोई स्टाइलिश जूड़ा बनाकर आ रही है। इस तरह के मामले सामने आए तो ऐसी अभ्यर्थियों के बाल साधारण तरीके से बनवाकर माप कराई गई। प्रदेशभर में 49 हजार पदों के लिए फिलहाल करीब सवा लाख अभ्यर्थियों की मापतौल प्रक्रिया चल रही है। इसका केंद्र मेरठ में पुलिस लाइन को भी बनाया गया है। फिलहाल यहां नौ जनपदों की अभ्यर्थियों की मापतौल जारी है।


भर्ती प्रक्रिया के नोडल अधिकारी एसपी ट्रैफिक संजीव वाजपेयी हैं। उन्होंने बताया कि कुछ महिला अभ्यर्थियों की लंबाई निर्धारित से मामूली कम है। इस मामूली अंतर को पूरा करने के लिए वह कई तरह के हथकंडे अपना रही हैं। उदाहरण के तौर पर मंगलवार को एक अभ्यर्थी अपने बालों में जैल लगाकर पहुंची। इससे उसकी लंबाई एक इंच बढ़ गई। जब शक हुआ तो बालों को धुलवाकर उन्हें दोबारा बंधवाया। दोबारा माप कराने में इस अभ्यर्थी की लंबाई कम रह गई। इसी तरह एक अभ्यर्थी बालों में मेहंदी लगाकर पहुंची थी। बाल चिपक जाने से उसकी लंबाई बढ़ गई, लेकिन नापतौल में मामला पकड़ में आने पर मेहंदी धुलवाई गई। कई महिला अभ्यर्थी ऐसी भी थीं, जो लंबाई बढ़ाने के लिए बालों का स्टाइलिश जूड़ा बनाकर पहुंची थीं।



एसपी ट्रैफिक ने बताया कि महिला अभ्यर्थियों की तीन दिन तक चली मापतौल प्रक्रिया में इस तरह के करीब 20 मामले सामने आए। कुछ अभ्यर्थियों ने ठंड का हवाला देकर पैरों में जुराब पहनकर नाप कराना चाहा, लेकिन जुराब उतरवाकर माप कराई गई। वह ऐसा इसलिए चाह रही थीं, जिससे उनकी लंबाई मामूली रूप से बढ़कर निर्धारित तक पहुंच जाए।


20 अभ्यर्थी रहीं अनफिट
भर्ती अधिकारी संजीव वाजपेयी ने बताया कि मंगलवार को 778 महिला अभ्यथिर्यों को मापतौल के लिए बुलाया गया। इसमें 583 उपस्थित और 195 अनुपस्थित रहीं। 563 अभ्यर्थी मानकों पर खरी पाई गईं, जबकि 20 अनफिट रहीं।


Popular posts from this blog

आज से खुलेंगी किराना दुकानें, खरीद सकेंगे राशन, प्रशासन ने तय किए सब्जी के रेट, देखें लिस्ट

3 जिले पूरी तरह सील, 11 जिलों में टोटल लॉकडाउन, बाहर निकले तो होगी FIR

आपदा प्रबन्धन समिति में गरीबों को भोजन देने का जिम्मेदारी साहब को दी गई है पर साहब अपने कुछ खास मित्रो का ज्यादा ख्याल करते दिखे ये वही है जिनके ऊपर घोटालों की लम्बी लिस्ट तैयार है,