12 जनवरी को आयोजित PSC परीक्षा में ठंड में टोपी, मफलर, शाल आदि भी नही पहन सकेंगे परीक्षार्थी, चेकिंग के बाद जूते /मोजे  पहन सकेंगे, आयोग के निर्देश जारी


▪प्रत्येक परीक्षा कक्ष में एक घड़ी लगाई जाए।
▪दिव्यांग परीक्षार्थियों के लिए भू-तल पर परीक्षा देने के लिए व्यवस्था करने के निर्देश
▪परीक्षा कक्ष में कोई भी इलेक्ट्रॉनिक डिवाईस का प्रवेश पूर्णतः वर्जित,
 ▪ठंड के मौसम को देखते हुए एवं आयोग से प्राप्त निर्देषों के अनुसार परीक्षार्थी जूते-मोजे पहनकर अंदर तो जा सकता है किन्तु पूरी जांच करानी होगी। 
▪परीक्षा कक्ष में स्कार्फ़ टोपी, शाल , मफलर को भी परीक्षार्थी परीक्षा कक्ष में उपयोग नहीं कर सकेंगे। 
▪नकल प्रकरण यदि कोई परीक्षार्थी आपस में बात करता है तब भी बनाए जा सकते है। 
▪केन्द्राध्यक्ष एवं आब्जर्बर के अतिरिक्त कोई भी शासकीय कर्मचारी एवं परीक्षार्थियों का मोबाईल ले जाना प्रतिबंधित रहेगा। 
 ▪परीक्षार्थी को ओएमआर शीट प्राप्त करने के पश्चात परीक्षार्थी को परीक्षा कक्ष से बाहर जाने की अनुमति नहीं रहेगी।
▪परीक्षार्थिंयों को केवल काला डाट पेन ही लेकर परीक्षा कक्ष में जाने के निर्देश है।
▪परीक्षार्थिंयों से आयोग द्वारा जारी प्रवेश पत्र में आवेदक की फोटो जो चस्पा है उसी फोटो के परिचय पत्र एवं आधारकार्ड की मूल प्रति लेकर उपस्थित हों। 
 ▪अस्पष्ट फोटो के पास अपनी साफ फोटो चस्पा कर राजपत्रित अधिकारी से प्रमाणित कराएं एवं एक फोटो की प्रति जिसके पीछे नाम, आवेदन क्रमांक एवं अनुक्रमांक अंकित कराएं।


इनको नही पहन सकते परीक्षार्थी



▪आयोग द्वारा  वर्जित वस्तुओं की श्रेणी में बालों को बांधने वाले क्लेचर, बकल, घड़ी, हाथ में पहने जाने वाले किसी भी प्रकार के बैंड, कमर में पहने जाने वाले बेल्ट, धूप में पहने जाने वाले चश्मे, पर्स, वालेट, टोपी वर्जित है। 
सिर नाक, कान, गला, हाथ-पैर, कमर आदि में पहनने वाले सभी प्रकार के आभूषण तथा हाथ में बंधे धागे, कलावा, रक्षा सूत्र आदि का सूक्ष्मता से परीक्षण कर वीक्षकों द्वारा परीक्षार्थी के कक्ष में जाने के पूर्व तलासी ली जाएगी।