हथियार माफियाओं के शिकार हुए कांग्रेस विधायक नीलांशु, 25 के खिलाफ FIR दर्ज

Apna Lakahya News


मध्यप्रदेश के सतना जिले में हथियार माफिया का खुलासा हुआ है। एसटीdएफ ने 100 से ज्यादा हथियारों के लाइसेंस मैं गड़बड़ी पाई है। जांच प्रक्रिया जारी है। सबसे पहले 25 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। हथियार माफियाओं के शिकार हुए लोगों की लिस्ट में चित्रकूट से कांग्रेस विधायक नीलांशु चतुर्वेदी का नाम भी शामिल है।


लाइसेंस फर्जीवाड़े में कांग्रेस विधायक का नाम
जिन 25 शस्त्र लाइसेंस को लेकर एफआईआर दर्ज की गई, उनमें एक चित्रकूट से कांग्रेस विधायक नीलांशु चतुर्वेदी का भी है। आरोप है कि लाइसेंस में फर्जीवाड़ा कर विधि विरूद्ध अतिरिक्त सीमाक्षेत्र में वृद्धि की गई। एडीजी अशोक अवस्थी का कहना है कि अभी शस्त्र शाखा के जिम्मेदारों को एफआईआर में आरोपी बनाया गया है। जबकि लाइसेंसधारियों की भूमिका की भी जांच जा रही है।



शिवराज सिंह शासनकाल में हुआ फर्जीवाड़ा, विधानसभा में उठाया सवाल
एफ एडीजी अशोक अवस्थी ने बताया कि सतना जिले में शस्त्र लाइसेंस की कालाबाजारी और उनके फर्जीवाड़े का मामला विधानसभा में उठा था। इस मामले में सरकार ने जांच के निर्देश दिए थे। एसटीएफ की स्पेशल टीम ने सतना जिले में कैंप लगाकर लाइसेंस से जुड़े 2004 से 2014 के रिकॉर्ड की जांच की, तो चौंकाने वाले खुलासे हुए। करीब सौ लाइसेंस में फर्जीवाड़ की बात पता चली है।
एसटीएफ ने सबूतों के आधार पर पहली बार एक साथ 25 अलग-अलग एफआईआर दर्ज की हैं। एसटीएफ ने जिले की शस्त्र शाखा प्रभारी अभयराज सिंह, युगुल किशोर गर्ग समेत अन्य व्यक्तियों को आरोपी बनाया है। अवस्थी ने बताया कि दूसरे जिलों में शस्त्र लाइसेंस की जांच के लिए सरकार से अनुमति ली  जाएगी।