खुले आम हो रहा कोरेक्स का खेल

Apna Lakshya News 


अवनीश द्विवेदी न्यूज़  


रीवा जिले के सिटी कोतवाली थाना अंतर्गत रतहरा बाईपास शासन द्वारा रोक लगाई गई सिरप जो खांसी में यूज होती जिसका नाम कोरेक्स है उसको युवा नशे के रूप में यूज कर रहे हैं वह बाईपास पर धड़ाके से बिक रही है जिसमें पुलिस अभी तक कोई कार्यवाही नहीं की है स्थानीय युवा नशे की ओर अग्रसित हो रहे हैं 



 


https://youtu.be/3qyf5Wz6wus


इसे बेरोजगारी का आलम कहें या नशे के दलदल मे फंसता भारतीय युवा इस कथित विडिओ मे युवाओं द्वारा नसें के लिए नयें नयें तरीक़े इजाद किये जा रहें वैसे तो ये कथित विडिओ रीवा जिलें के रतहरा सिलपरा बाईपास का बताया जा रहा लेकिन इस तरह का मंजर आपको हर जिलें हर गाँव एवं हरेक गली मोहल्लों मे मिल जाएगीं क्योंकि घर में खाने के लिए रोटी न हो लेकिन नशेड़ियों को सिर्फ अपने नशे से मतलब होता है फिर चाहे उसके लिए चोरी, डकैती और फिर भी जरूरत पूरी न हुई तो हत्या तक को अंजाम देने से नही घबरातें ये नशेड़ी राह चलते लड़कियों को छेड़ना,गन्दी गाली देना है नशे मे मस्त होकर सड़क पर इधर उधर गाड़ी दौड़ाना इनका रोंज काम हो गया है अगर बात कोरेक्स कफ सिरप की करें तो आपको ये सामान्यतः सभी मेडिकल स्टोर पर उपलब्ध ही नहीं होती और जिनके पास होती है डाक्टर के लिखें बगैर बिना पक्के बिल के बेचना दंडनीय अपराध है तो बात करें इन नसेड़ीयो की तो ये कोरेक्स जैसी नशीली दवाइयाँ पाते कहाँ से है अगर दुसरी भाषा मे कहें तो इन्हें या तो राजनीतिक संरक्षण प्राप्त है या शासन का सहयोग प्राप्त है इसमे कोई दोराय नहीं है या इसके पीछे कोई नामदार है क्योंकि कार्यवाही के नाम पर सिर्फ छोटे मोटे टुटपुँजियों को पकड़ कर खानापुर्ति कर ली जाती है अब ये शासन प्रशासन ही जाने कब इन नशेड़ियों और नशे के सौदागरों पर कार्यवाही होगी क्योंकि इनका नशे का कारोबार खुब फल फूल रहा है