गहरा नाला स्थित शराब दुकान में अबकारी की दबिश

Apna Lakahya News 


 



 जांच के नाम पर सब मैनेज



सतना| शराब ठेकेदारों द्बारा एमआरपी से कम दामों में शराब की बिक्री की जा रही है। इस बात की जानकारी लगते ही आबकारी विभाग की टीम ने गहरा नाला स्थित अंग्रेेजी शराब दुकान में तो दबिश दी लेकिन ठेकेदार के पीछे एक सफेदफोस का हिस्सा होने के कारण कार्यवाही महज खानापूर्ति तक ही सीमित होती नजर आई। 
जानकारी के मुताबिक  वर्ष 2019-20 में गहरा नाला स्थित अंग्रेजी शराब दुकान का ठेका विजय जायसवाल को दिया गया है। वर्ष 2020 के लिए नये टंडर पाण्डेय एसोसियेट को मिला है। एक अप्रैल से पाण्डेय एसोसियेट शराब दुकान चलाएगा। वहीं पूरानी टेंडर पर 31 मार्च तक विजय जायसवाल शराब दुकान चलाएगा। वर्ष का अंतिम पखवाड़ा होने के कारण वेयर हाउस से मिली शराब की खपत करने के लिए ठेकेदार द्बारा एमएसपी से कम दामों में शराब की बिक्री कर रहा है| 


राकेश अवधिया के माध्यम सब मैनेज
विजय जायसवाल के द्बारा कम रेट में शराब बिक्री करने की जानकारी अन्य ठेकेदारों द्बारा आबकारी विभाग को दी गई। शिकायत में जिला आबकारी अधिकारी सावित्री भगत, उपनिरीक्षक राकेश अवधिया दलबल के साथ मौके में पहुंचे। दुकान में रेड़ कार्रवाई कर जांच शुरू कर दी। लेकिन सिर्फ खानापूर्ती कर सब मैनेज कर लिया गया|



काना फूसी अनिल के गुर्गे



इधर आबकारी विभाग की दबिश पड़ने की सूचना पर शराब ठेकेदार के गुर्गे शराब दुकान पहुंच गए। सूत्रों की माने तो अनिल जयसवाल  शराब ठेकेदार और उसके गुर्गें आबकारी अधिकारी पर दबाव बनाने लगे। उपनिरीक्षक राकेश अवधिया को ठेकेदार का राइट हैंड मुकेश हर स्तर पर मैनेज करने का प्रयास किया। अंतत: मुकेश, राकेश अवधिया को माध्यम बनाकर सभी अधिकारियों को मैनेज करने में सफल रहा। उसके बाद आबकारी विभाग के अधिकारी कार्रवाई के नाम पर खानापूर्ति की।