गुनौर से कांग्रेस विधायक शिवदयाल बागरी का बड़ा बयान...

Apna Lakshya News 


 


*कहा : भाजपा प्रदेश की जनता को कर रही गुमराह , कमलनाथ सरकार अल्पमत में नहीं ,बल्कि पूर्ण बहुमत में है ।


*!!  मैं कांग्रेस का सिपाही हूं , मरते दम तक कांग्रेस के साथ खड़ा रहूंगा - शिवदयाल बागरी


गुनौर :मध्य प्रदेश की राजनीति में कांग्रेस के दिग्गज नेता रहे ज्योतिरादित्य सिंधिया के कांग्रेस छोड़कर भाजपा में जाते ही मध्य प्रदेश की राजनीति में भूचाल आ गया  । जिसमे 22 सिंधिया समर्थक विधायकों ने भी विधानसभा स्पीकर नर्मदा प्रसाद प्रजापति को इस्तीफा सौंप दिया है , जिसमें  6 विधायकों के इस्तीफे मंजूर  कर लिए गए हैं । बाकी बचे 16 विधायकों के अगर इस्तीफे स्वीकार कर लिए जाते हैं तो सरकार अल्पमत में आ जाएगी । जिसको लेकर भाजपा सिंधिया समर्थक 22 विधायकों के इस्तीफे स्वीकार कर फ्लोर टेस्ट कराने की मांग कर रही है । इतना ही नहीं प्रदेश में विधायकों की खरीद-फरोख्त रोकने के लिए भाजपा-कांग्रेस दोनों अपने विधायकों को बचाने के लिए जयपुर , बेंगलुरु , दिल्ली लेकर चार्टर्ड बसों में घूम रही है । इसी गहमागहमी के बीच गुनौर से कांग्रेस विधायक_शिवदयाल_बागरी ने #नईदुनिया_संवाददाता_संदीप_विश्वकर्मा को जानकारी  देते हुए भाजपा पर आरोप लगाया कि भाजपा द्वारा षड्यंत्र पूर्वक प्रदेश की कमलनाथ सरकार को तोड़ने के लिए खरीद-फरोख्त तथा साम-दाम-दंड-भेद अपना कर लोकतंत्र की हत्या कर कांग्रेस को स्पष्ट बहुमत देने वाली प्रदेश की जनता के अरमानों पर पानी फेरने का काम कर रही है । जिसको प्रदेश की जनता आगामी चुनावों में जवाब देगी । उन्होंने यह भी कहा कि मैं कांग्रेस का सिपाही हूं और मरते दम तक कांग्रेस के साथ खड़ा रहूंगा  , प्रदेश की कमलनाथ सरकार अल्पमत में नहीं बल्कि पूर्ण बहुमत में है , आगामी दिनों में माननीय न्यायालय का जो भी फैसला होगा उसका हम सम्मान करेगे । उन्होंने कहा भाजपा जो आरोप लगा रही है की सरकार अल्पमत में हैं , तो उनको बता दूं कि इन्होंने राज्यपाल के सामने 106 विधायकों की लिस्ट सौंपी है । अगर कांग्रेस विधायकों की बात की जाए तो भाजपा द्वारा बंधक बनाए गए 16 विधायकों के इस्तीफे स्वीकार नहीं किए गए हैं । 16 विधायक हमसे दूर जरूर हैं । पर उनकी भावनाएं कांग्रेस के साथ हैं और वह कांग्रेस के साथ रहेंगे । वह  विधायक प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ जी के संपर्क में है । अगर कांग्रेस - सपा - बसपा जोड़कर सभी विधायकों की संख्या देखी जाए तो स्पष्ट होता है कि सरकार अल्पमत में है या बहुमत में । भाजपा बहुमत की सरकार को तोड़ने का काम कर रही है । जो कि मैं इसकी घोर निंदा करता हूं । उन्होंने यह भी कहा कि प्रदेश की जनता गुमराह ना हो मध्यप्रदेश में कमलनाथ जी की सरकार है ,  और आगे भी रहेगी । भाजपा पर यह भी आरोप लगाया कि प्रदेश की जनता ने कमलनाथ सरकार को बहुमत दिया है । जिसको भाजपा द्वारा लोकतंत्र की हत्या कर खुलेआम सरकार को तोड़ने का प्रयास किया जा रहा है । क्योंकि प्रदेश की कमलनाथ सरकार ने महज 16 महीने की सरकार में सरकार के खाली खजाने को भरने एवं प्रदेश में भू माफियाओं द्वारा करोड़ों , अरबों रुपए की भू संपदा पर आलीशान इमारतें बनाकर सरकार को चूना लगाने वालो पर  कार्रवाई करके सरकार की करोड़ों अरबों  की संपदा को बचाने का काम किया ,  प्रदेश में युवा बेरोजगारी कम हुई है । इसके अलावा भी कई अन्य जनहितेषी कार्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार द्वारा किए गए हैं । कमलनाथ जी के कार्यों को देख भाजपा घबराई हुई है । उन्होंने दावा किया कि प्रदेश की कमलनाथ सरकार 5 साल नहीं बल्कि 10 साल चलेगी ।