कलेक्टर, एसडीएम के बाद अब साइबर सेल प्रभारी की फेक आइडी से धोखाधड़ी

 



रिश्तेदार से खाते में जमा कराए दस हजार रुपए


सतना - कलेक्टर, एसडीएम के बाद अब साइबर सेल प्रभारी उप निरीक्षक अजीत सिंह की फेक आइडी बनाकर धोखाधड़ी की गई है। गुरुवार को जब इसकी भनक लगी तो फेक आइडी को ब्लॉक कराते हुए साइबर सेल प्रभारी ने अपने सभी परिचितों को इसके बारे में बताया। सिविल लाइन थाना में एक आदेवन जांच के लिए देते हुए साइबर टीम अब अपराध करने वाले गिरोह की तलाश में जुट गई है।
फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट व साइबर सेल प्रभारी अजीत सिंह ने बताया कि उनकी प्रोफाइल फोटो और नाम का उपयोग कर ठीक उसी तरीके से फेसबुक पर फेक आइडी बनाई गई जैसे कलेक्टर सतना की आइडी बनाई गई थी। सुबह करीब 11 बजे तक इस फेक आइडी में 9 दोस्त जुड़े थे जो म्युचुअल बता रहे थे। जबकि फेक आइडी ब्लॉक होने तक इसमें म्युचुअल दोस्तों की संख्या 62 हो चुकी थी। धोखाधड़ी करने वाले ने अस्पताल में भर्ती होने की बात कहकर एसआइ अजीत के मामा से 10 हजार रुपए खाते में जमा करा लिए। इसी तरह एक और फेसबुक मित्र से 5 हजार रुपए जमा कराने को कहा लेकिन सर्वर डाउन होने के कारण ट्रांजेक्शन नहीं हो पाया और तब तक अजीत ने फेक आइडी के बारे में सूचना अपने सभी दोस्तों को दे दी थी। सतना में रहने वाले कुछ व्यक्तियों के पास भी मैसेज करते हुए बदमाशों ने खाते में रुपए जमा करने को कहा था।



बात कलेक्टर की आई तो पकड़े अपराधी



कलेक्टर सत्येंद्र सिंह के नाम से उनके मित्र से 20 हजार रुपए ठगे गए थे। कलेक्टर की फेक आईडी बनाकर 20 हजार रुपए की ठगी करने के मामले में सिटी कोतवाली पुलिस ने बिहार एवं झारखंड में दबिश देकर आरोपियों को गिरफ्तार किया था। इसी तरह का मामला अब खुद साइबर सेल प्रभारी का सामने आया है। जिसमें पुलिस अब पूरी तरह सक्रिय होकर अपराधियों तक पहुंचने का प्रयास कर रही है।
अभी अनसुलझे हैं यह मामले
- विगत 26 नवंबर को कोलगवां थाना क्षेत्र के कोलगवां मोहल्ले में रहने वाले भारतीय जनता युवा मोर्चा के पूर्व जिला अध्यक्ष लोकेश त्रिपाठी के नाम से ठग ने वसूली की योजना बनाई थी। अज्ञात ठग ने लोकेश त्रिपाठी की फेसबुक के जरिए उनके परिचितों को संदेश भेजा कि मेरा एक्सीडेंट हो गया है और मैं आईसीयू में भर्ती हूं मुझे पैसों की सख्त जरूरत है।इस संबंध में भ्रक लगने पर लोकेश ने पुलिस और साइबर सेल में शिकायत दर्ज कराई थी। लेकिन मामला पुलिस जांच में अटका है।
- विगत 5 नवंबर को आकाश गंगा नगर पतेरी निवासी विद्या त्रिपाठी की फेसबुक आइडी को हैक कर ठग ने उनके मित्र से 30 हजार रुपए ऐंठ लिए। विद्या त्रिपाठी के मुताबिक उनकी फेसबुक आईडी को हैक किया गया और उनके मित्रों को संदेश भेजा गया। संदेश के माध्यम से अर्जेंट में पैसे की मांग की गई। एक मित्र विनोद बिहारी त्रिपाठी ठग के झांसे में आ गए और उन्होंने 15000 रुपए की 2 किस्ते उसके बताए हुए अकाउंट नंबर पर ट्रांसफर कर दी। यह शिकायत भी पुलिस के पास जांच में है