मप्र में कमलनाथ सरकार को गिराने के लिए आपरेशन लोटस के पीछे कौन

Apna Lakshya News 


 


- सूत्रों से खबर आ रही है कि मप्र में कमलनाथ सरकार को गिराने के लिए दक्षिण भारत की कुछ कंपनियों सक्रिय हैं जिन्होंने शिवराज सिंह चौहान की सरकार के 12 साल में अरबों खरबों के अनेक ठेके लिए हैं।


- दक्षिण भारत की इन कंपनियों को ही मप्र में जल संसाधन, नर्मदा घाटी, पीडब्ल्युडी, डायल 100, स्मार्ट सिटी आदि के बड़े ठेके मिलते रहे हैं।


- कमलनाथ सरकार आने के बाद अधिकांश कंपनियों को मप्र से काम समेटना पड़ा है।


- कमलनाथ सरकार ने इनमें से कुछ कंपनियों के खिलाफ ई-टेंडरिंग में एफआईआर दर्ज करा रखी है। राष्ट्रीय स्तर पर हुई बदनामी और कारोबार बंद होने के कारण यह कंपनियां कमलनाथ सरकार को हटाना चाहती हैं।



- इस मुहिम में वह मल्टी नेशनल कंपनियां भी शामिल हो सकती हैं जिन्हें पिछले 12 साल में टेक्नोलॉजी और स्कीमें बनाने के नाम पर अरबों रुपये मिले हैं। कमलनाथ सरकार आने के बाद इन कंपनियों का कारोबार भी बंद है। मप्र के दो आईएएस के बच्चे भी इन कंपनियों में मोटी सेलरी पर काम करते थे। प्रतिनियुक्ति पर दिल्ली में पदस्थ इन आईएएस अफसरों की भूमिका की भी जांच होना चाहिये।।