पश्चिम मध्य रेल भोपाल मण्डल मे रेल सुरक्षा बल का सराहनीय योगदान

Apna Lakshya News 



COVID-19 के विरुद्ध लड़ाई में रेल सुरक्षा बल का महत्वपूर्ण योगदान  


 



  भोपाल।कोरोना महामारी राष्ट्रीय आपदा के इस संकट काल में जबकि रेल प्रशासन द्वारा सभी यात्री गाड़ियों का परिचालन बन्द कर वायरस संक्रमण को रोकने का प्रयास किया जा रहा है, ऐसे कठिन समय में रेल सुरक्षा बल द्वारा सरकार के प्रयासों में योगदान करने के साथ-साथ रेल परिसंपत्तियों की सुरक्षा करने के महत्वपूर्ण कार्य को बखूबी अंजाम दिया जा रहा है।यात्री गाड़ियों का परिचालन बन्द किये जाने के परिणामस्वरूप अलग-अलग स्थानों पर खड़े कर दिए गए रेक और इंजन की सुरक्षा का चुनौतीपूर्ण दायित्व रेल सुरक्षा बल द्वारा उठाकर अपनी कर्त्वय परायणता को सिद्ध किया जा रहा है। नागरिकों के लिए जरूरी सामान जैसे खाद्यान्न, उर्वरक, पेट्रोलियम, कोयला, एलपीजी, दूध, सब्जियां आदि की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए चलाई जा रहीं मालगाड़ियां एवं रोजमर्रा की वस्तुओं की आपूर्ति के लिए चल रहीं पार्सल स्पेशल गाड़ियों के सुरक्षित संचलन हेतु रेल सुरक्षा बल द्वारा मार्ग अनुरक्षी दलों की तैनाती कर इनकी सुरक्षा की जा रही है। इन गाड़ियों में किसी भी व्यक्ति को यात्रा करने से रोककर इनका सुरक्षित संचलन सुनिश्चित किया जा रहा है।लॉकडाउन की अवधि में मण्डल के गुना-ग्वालियर रेल खण्ड पर अधिकांश स्टेशनों को बन्द कर दिया गया है। अतः यह अतिरिक्त  दायित्व भी स्वीकार कर रेल सुरक्षा बल द्वारा स्टेशनों एवं रेल परिसंपत्तियों की सुरक्षा का प्रबन्ध किया जा रहा है।मण्डल रेल प्रबंधक श्री उदय बोरवणकर की सलाह पर वरिष्ठ मण्डल सुरक्षा आयुक्त (रेल सुरक्षा बल) श्री बी. राम कृष्णा के दिशा निर्देशन में अपने शासकीय दायित्वों के अतिरिक्त रेल सुरक्षा बल कर्मियों द्वारा गरीब, बेसहारा और जरूरतमंद लोगों को भोजन के पैकेट्स और खाद्य सामग्री का वितरण कर अपने सामाजिक और नैतिक दायित्व को भी निभाया जा रहा है।इसके अतिरिक्त भोपाल मण्डल द्वारा चलाई जा रही "रेल परिवार देख रेख" मुहिम में सक्रिय योगदान करते हुए रेल सुरक्षा बल द्वारा कार्मिक विभाग के समन्वय से रेल कर्मी परिवारों से संपर्क कर उनकी समस्याओं को दूर करने का प्रबंध किया जा रहा है।इस संकट काल में बल के जवानों को वायरस के संक्रमण से बचाने के लिए सैनिटाइजर, मास्क, दस्ताने, सोप का उपयोग कर स्वयं की सुरक्षा करने की सलाह दी जा रही है। वरिष्ठ मण्डल सुरक्षा आयुक्त द्वारा भी जवानों को अपनी सुरक्षा संबंधी उपाय अपनाने हेतु  प्रेरित करने के साथ ही उनका मनोबल बढ़ाया जा रहा है।